Health Fitness & Wellbeing

Monday, November 20, 2017

पैरों की ऐंठन के 10 कारण

मेरे प्यारे दोस्तों, मित्रों और इस ब्लॉग के पाठकगणों! आप सभी का अपने इस ब्लॉग में आपके इस ब्लॉग का ब्लॉगर और आप सभी का अभिन्न मित्र व दोस्त "अखिलेश" आप सभी का दिल से स्वागत, बार-बार अभिनन्दन और इस्तकबाल करता है।




आप सभी लोगों से एक बार फिर मिलने का मौका मुझे आज मिल रहा है। जिसके कारण मैं बहुत ही हर्ष व ख़ुशी महसूस कर रहा हूँ। आशा करता हूँ की आप लोग भी कुछ ऐसा ही इस ब्लॉग को पढ़ कर करते होंगे। 




प्रिये मित्रों आज हम अपने इस ब्लॉग में एक प्रकार की नयी समस्या के बारे में जानेगे। जरुरी नहीं किसी व्यक्ति के लिए यह समस्या नयी हो! हो सकता है वह इसके बारे में जानता हो लकिन हम अपने इस बार के ब्लॉग पोस्ट में उसके बारे में विस्तार से आप सभी को बताएँगे व उन कारणों के बारे में भी चर्चा करेंगे जिनकी वजह से यह समस्या होती है।





आज हम पैरों में होने वाली ऐंठन के बारे में बात करेंगे। पैरों में होने वाली ऐंठन के कई कारण हो सकते है लकिन हम आज मुख्य 10 कारणों के बारे में जिक्र करेंगे। कई लोंगो को रात में सोते समय अचानक पैरों में दर्द की शिकायत होती है। वही कुछ को चलते हुए या फिर किसी प्रकार का काम करते हुए पैरों में ऐंठन के साथ तेज दर्द होने लगता है।
पैरों की ऐंठन के 10 कारण

 
हालांकि यह दर्द लम्बे समय तक नहीं होता है, लकिन उतने ही समय के लिए होने वाला दर्द बहुत अधिक तकलीफ देता है। एक प्रकार की मरोड़ की तरह उठने वाला यह दर्द के साथ पैर या फिर उसकी पिंडलियाँ में बहुत अधिक अकड़न महसूस होती है। इस समस्या को कई लोग लेग क्रैम्प्स या नाईट क्रैम्प्स के नाम से भी बुलाते है।

  

एक शोध के अनुसार वैसे तो यह समस्या एक कॉमन प्रॉब्लम है लकिन बार-बार अगर ऐसा दर्द होने या ऐंठन के साथ-साथ पैरों में सूजन या लाल होते है तो इनको इग्नोर नहीं करना चाहिए। यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी हो सकते है। आइये तो अब उन 10 कारणों का जिक्र करेंगे जिनकी वजह से यह पैरों में होने वाली ऐंठन हो सकती है। 





1.   बढ़ती हुई उम्र का असर:- देखा गया है की बढ़ती हुई उम्र के साथ-साथ हमारी मासपेशियां की कार्यक्षमता धीमे-धीमे कम होने लगती है।  ऐसे में अक्सर पैरों में ऐंठन होने लगती है।  रोजाना आधा घंटे की वॉक या फिर स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करने से इस समस्या से निजात मिल सकती है।  



2.   ब्लड सर्कुलेशन:- कभी-कभी शरीर में खून का संचार सही तरह न होने से पैरों की मांशपेशियां तक खून की सप्लाई सही नहीं हो पाती है। जिसकी वजह से पैरोँ में ऐंठन होना की प्रॉब्लम हो जाती है।  



3.  डिहाइड्रेशन:- अगर हमारे बॉडी में कभी पानी की कमी होती है तो काम करने वाली मसल्स में ज्यादा प्रेशर पड़ता है, जिसकी वजह से पैरों में ऐंठन होने लगती है। इस वजह से कोशिश करें के शरीर में पानी की कमी न हो।  जिससे श्रम करने वाली मसल्स नरम और फ्लेक्सिबल बनी रहे।  



4.   डायबिटीज:- कई बार शरीर में शुगर की मात्रा बढ़ने से भी पैरों में ऐंठन होने लगती है। अतः शरीर में शुगर का लेवल चेक करते रहे।  लकिन बार-बार भी अगर यही प्रॉब्लम रहती है तो डॉक्टर को कंसल्ट जरूर करें व इसे नज़रअंदाज़ न करे।  



5.   नूट्रियन की कमी:- अगर शरीर में पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम या फिर सोडियम की कमी रहती है तो भी श्रम करने वाली मसल्स पर दबाव बन जाता है जिसके कारण पैरों में ऐंठन या फिर दर्द की शिकायत होने लगती है।  



6.   दवाइयों का साइड इफेक्ट्स:- कई बार कुछ बीमारियों की दवाओं के कारण जैसे हाई ब्लड प्रेशर में भी शरीर अपना प्रतिकूल असर बताता है।  जिसकी वजह से भी यह प्रॉब्लम होने लगती है। अगर ऐसा होता है तो अपने डॉक्टर को तुरंत कंसल्ट करना चाहिए।  



7.  लगातार खड़े रहना:- लम्बे समय तक खड़े रहने के कारण भी पैरोँ की माशपेशियों में खिचाव होने लगता है।  जिसकी वजह से पैरों में ऐंठन या फिर दर्द की शिकायत होने लगती है। ऐसा में पैरों को अगर गर्म पानी से सिकाई की जाये तो आराम मिलता है। 



8.  थाइरोइड:- शरीर में अगर थायरोक्सिन हॉर्मोन का संतुलन अगर बिगड़ने लगता है तो हाइपर्थाइरॉइडिज़म के प्रॉब्लम होने लगती है।  जिसकी वजह से शरीर में कमजोरी आने लगती है। फिर मसल्स में खिचाव या फिर पैरों में ऐंठन या फिर दर्द की शिकायत होने लगती है।



9.   थकान:- कई बार अधिक श्रम या शारारिक काम करने के कारण हमारी मसल्स कड़क हो जाती है, जिनकी वजह से उनमे दर्द और ऐंठन का अनुभव होने लगता है।  ऐसे में भी पैरों में ऐंठन या फिर दर्द की शिकायत होने लगती है।



10.  कमजोरी:- शरीर में कमजोरी के कारण भी नार्मल मसल्स की कार्य क्षमता प्रभावित हो जाती है। जिसकी वजह से पैरों में ऐंठन या फिर दर्द की शिकायत होने लगती है।

ये थे पैरों की ऐंठन के 10 कारण जिनके बारे में ऊपर जिक्र किया गया है। अगर आप इनके बारे में अधिक जानना चाहते है तो नीचे दिए गए वीडियो के लिंक को क्लिक करे और पसंद आने पर "लाइक" करें। इस पोस्ट के बारे में अपने सुझाव और प्रश्न हमें कमेंट बॉक्स में लिख कर या फिर हमारे ईमेल आईडी पर भी भेज सकते है। हमें आपके कमैंट्स का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा।