Health Fitness & Wellbeing

Sunday, April 30, 2017

गोरा होने के लिए आजमाएं ये 15 टिप्स


मेरे प्यारे मित्रों और इस ब्लॉग के पाठकों का आपका अपना ब्लॉगर अखिलेश जैन फिर से आप सभी का स्वागत, अभिनन्दन और ब्लॉग से जुड़े रहने के लिए सभी का शुक्रिया व धन्यवाद देना चाहता है।

  
दोस्तों आज हम इस पोस्ट में लड़कों को गोरा होने के लिए आजमाई हुई 15 घरेलू टिप्स के बारे में बात करूँगा।  आजकल के नौजवान लड़के गोरा होने के लिए अलग-अलग प्रकार की फेयरनेस क्रीम लगते है जो महंगे होने के साथ ही त्वचा को अनजाने में बहुत ही नुख्सान पहुंचते है। लम्बे समय तक लगाने पर भी इन फेयरनेस क्रीम्स का फायदा न के बराबर मिलता है।

गोरा होने के लिए आजमाएं ये 15 टिप्स


स्मार्ट और हैंडसम दिखने के लिए लड़के इन क्रीम का इस्तेमाल करके लड़कियों को अपनी तरफ आकर्षित करने की कोशिश करते है लकिन ज्यादातर लड़कों को इस काम में असफलता ही हाथ लगती है।

  
आज हम जिन घरेलू नुस्खों की बात करेंगे उन में से कोई भी शरीर और यहाँ तक त्वचा के लिए हानिकारक न हो कर बल्कि शरीर और त्वचा के लिए बहुत ही लाभप्रद है। इन घरेलू नुस्खों में शामिल है कुछ प्रकार के फूड्स जो हमें आसानी से हर घर में मौजूद रहते है।  इन फ़ूड को लेने से त्वचा भीतर से क्लीन, क्लियर और हैल्थी बनती है।  साथ है इन फूड्स का कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं होता है और इनका असर भी त्वचा पर लम्बे समय तक रहता है। 

   
आइये तो फिर बात करे उन 15 चीजों की जो आपको जल्दी और हमेशा के लिए गोरा बनाए रखने में मदद करते है। 
  

(1) बादाम में सेलेनियम और जिंक होता है और इसे खाने से चहेरे के पिम्पल्स दूर होते है तथा स्किन सॉफ्ट और फेयर बनती है। 

(2) नीबू पानी में मौजूद विटामिन-C और एसिड त्वचा को ब्लीच करके गोरा बनाते है। रोज़ इसको पीने से झुर्रिया जिन्हे हम रिंकल्स कहते है और ब्लैक हेड्स की प्रॉब्लम भी दूर होती है। 

(3) केला विटामिन-A, B और E से भरपूर होता है। यह स्किन को यंग लुक के साथ ही ग्लो भी बढ़ाता है।  

(4) टमाटर में मौजूद लइकोपिन त्वचा की फेयरनेस बढ़ता है साथ ही वजन भी कम करने में मदद करता है।  

(5) लाल और पीली शिमला मिर्च में विटामिन-C और लइकोपिन होता है जो स्किन को अंदर से यंग लुक देता है।  

(6) सौफ एंटी-ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है जो बॉडी को डिटाक्सफाइ करता है। जिससे स्किन टोन होती है और शरीर में खून का प्रवाह अच्छा होता है।  

(7) ग्रीन टी त्वचा के दाग-धब्बे हटती है और टैनिंग को दूर करके स्किन को सॉफ्ट बनती है।

(8) सोयाबीन और सोया प्रोडक्ट्स जैसे टोफू व सोया मिल्क त्वचा के लिए फायदेमंद होते है।

(9) डार्क चॉकलेट से त्वचा का टेक्सचर अच्छा होता है। ये हमारे चहेरे को अल्ट्रा वायलेट किरणों से बचती है। इसमें मौजूद कोको पोलीफेनोल्स स्किन वाइटनेस में मदद करते है।

(10) चाय में पाए जाने वाले एंटीऑक्सिडेंट्स शरीर में मौजूद पेरोक्साइड के असर को कम करते है और फेयरनेस बढ़ाते है।

(11) चुकंदर या फिर बीटरूट शरीर से हानिकारक टॉक्सिन्स को निकालते है।  इसमें आयरन, पोटैशियम, मैग्नीश़, विटामिन-A, B और C होते है जो स्किन को फेयर करने में मदद करते है।  

(12) पालक में पर्याप्त मात्रा में आयरन और फाइबर होता है जिससे पिम्पल्स नहीं होते है और स्किन ग्लो करती है।  

(13) गाजर में भरपूर मात्रा में विटामिन-C और कैरोटीन होता है जो त्वचा को हैल्थी और गोरा बनता है।  

(14) पपीता, चेरी और स्ट्रॉबेरी जैसे फल भी स्किन को हेल्थी और फेयर ग्लो देते है।  

(15) ऑरेंज और अनार जैसे फल में कोलेजन स्किन को यंग लुक देता है।  


नीचे दिए गए वीडियो को ध्यानपूर्वक देखे और अपनी त्वचा को गोरा बनाये। 


Sunday, April 23, 2017

स्वास्थ्य व सुंदरता बढ़ाने वाला गुणकारी साबूदाना


अपने ब्लॉग में आप सभी मित्रों और दोस्तों का फिर से स्वागत करता हूँ।
  
मित्रों, आज हम बात करेँगे साबूदाने के बारे में, जैसा की सभी जानते है हम सभी ने साबूदाने की खिचिड़ी कभी न कभी जरूर खायी है और साबूदाने की खिचिड़ी के स्वाद के क्या कहने। आमतौर पर साबूदाने की खिचिड़ी हिन्दू मान्यता के अनुसार व्रत के दौरान खायी जाती है क्योकि साबूदाने को हम भारतीय लोग अन्न से अलग मानते है और फिर जिस प्रकार व्रतों में अन्न नहीं खाया जाता है तो फिर उसकी जगह फल, आलू के चिप्स, केले के चिप्स, साबूदाने की खिचिड़ी आदि चीजें खायी जाती है। 


स्वास्थ्य और सुंदरता बढ़ाने वाला साबूदाना


साबूदाने में मौजूद विटामिन-बी और फोलिक एसिड प्रेगनेंसी के समय खाने से बच्चें की ग्रोथ के लिए अच्छा होता है। साबूदाने में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कैल्शियम और मिनरल्स होते है जो हमारे शरीर को आवश्यक पौषिक तत्त्व देते है जो शरीर को स्वस्थ्य और सेहतमंद बनाये रखता है। 
  
इसमें मौजूद विटामिन-K तंत्रिका तंत्र (Nervous System) को हैल्थी रखते है और मानसिक रोग होने से बचता है। साबूदाने में पोटैशियम होता है जो ब्लड प्रेशर को नार्मल और कंट्रोल में रखता है।  ये कार्बोहायड्रेट से भरपूर होता है, जो सारा दिन आपका एनर्जी लेवल हाई रखता है साथ ही वजन बढ़ाने में कारगर सिद्ध साबित होता है।
       
साबूदाने के कई हेल्थ बेनिफिट्स तो है ही और अगर इसे दूध, दही जैसे स्वास्थ्यवर्धक फूड्स में मिलाकर चेहरे और बालों पर लगाने से ख़ूबसूरती में भी चार चाँद लग जाते है व ख़ूबसूरती में और भी निखार आ जाता है। जैसे इसको पीस कर इसमें दूध मिला ले और फिर चेहरे पर फेस पैक की तरह लगा ले और 15 मिनट बाद चेहरे धो लेइस प्रकार करने से चेहरे का रंग साफ और गोरा होता है।
  
साबूदाने के पाउडर में शहद और नीबू का रस मिलकर चेहरे पर लगाने से चहेरे के दाग-धब्बे दूर हो जायेगे।  इसी प्रकार दही में मिला कर लगाने से चेहरे का ग्लो बढ़ता है। साबूदाने में जैतून का तेल (Olive Oil) मिलाकर आधे घंटे तक बालों में लगाने से हेयर फॉल की प्रॉब्लम दूर होती है।  साबूदाने के पाउडर को दही, गुलाब जल और शहद में मिलकर बालों की जड़ों में लगाने से बालों की शाइनिंग बढ़ती है।
  
साबूदाने को पीस कर इसमें एग योक मिलकर चहरे पर लगाने से रिंकल्स दूर होते है।  साबूदाने का पाउडर को दूध में मिलकर चुटकी भर हल्दी (Turmeric) मिलकर हाथ-पैरों पर लगाने से सन टैनिंग (Sun Tanning)  दूर होती है और रंग साफ होता है।
  
साबूदाने के और भी गुणों को जानने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को देखे और शेयर करे।



Tuesday, April 18, 2017

9 प्रकार के जहरीले फ़ूड के शौकीन लोग


आप सभी पाठकों और मित्रों का आपका ब्लॉगर अपने इस ब्लॉग में एक बार फिर से हार्दिक स्वागत और अभिनन्दन करता है।

  
प्रिय मित्रों, आज हम आपको 9  प्रकार के जहरीले खाद्य पदार्थ साथ ही उनको खाने वाले शौकीनों के बारे में बताएँगे। जैसा की आप जानते है दुनिया में खाने के शौकीन लोगों की कोई कमी नहीं है। कुछ फ़ूड में पाए जाने वाले जहरीले हिस्से या फिर जहरीले भाग के बारे में जानते हुए भी खाने के शौकीन उन्हें बड़े चाव से खाते है। 


9 प्रकार के जहरीले फ़ूड के शौकीन लोग

  
हालांकि इन खाद पदार्थ को बनाने या फिर हम कहे की पकाने का तरीका बहुत ही खास होता है। जिनसे इनके अंदर का जहरीले पदार्थ को बड़ी सावधानी से अलग किया जाता है। लकिन फिर भी इनको खाना खतरे से खाली नहीं है।


अब हम आपको बता रहे है वे 9 प्रकार के जहरीले फूड्स जिनको खाने वालों की दुनिया में कोई कमी नहीं।  कसावा एक इसी प्रकार का खाद्य पदार्थ है जो साउथ अमेरिका में पाया जाता है।  इसे टॉपियोका के नाम से जाना जाता है।  यह एक तरह की वुडी वेजिटेबल होती है जिसकी पत्ती और जड़ो में साइनाइड होता है। वहां के रेस्टोरेंट में इसको बनाने वाले स्पेशल शेफ होते है जो इसके जहरीले हिस्से को अलग करके इसे पकाते है।

  
ब्लड क्लेम्स इसी तरह का एक और जहरीला फ़ूड है जिसे चीन के निवासी बड़े शौक से खाते है।  इसको भी अच्छी तरह उबाल कर पकाया जाता है।  इसमें रहने वाले बैक्टीरिया से हेपेटाइटिस-A जैसी जानलेवा बीमारी भी हो सकती है।

  
टूना मछली एक ऐसी फिश होती है जो मरकरी जैसा हानिकारक पदार्थ को एब्सॉर्ब कर लेती है।  ज्यादा टूना फिश खाना मौत की वजह भी बन सकता है। इससे होने वाले नुकसान को देखते हुआ इससे गर्भवती महिला और बच्चों को खाने नहीं दिया जाता है।

  
एप्रिकॉट सीड्स जो टर्की में पाए जाते है, इनमे साइनाोजेनिक ग्लाइकोसाइड नामक हानिकारक टॉक्सिन्स होते है। टर्की जैसे देश में कई लोगों की मौत इस बीज के खाने से हुई है। एल्डरबेरीज आमतौर पर यूरोप में पाया जाता है। इन फलों को कच्चा आसानी से खाया जा सकता है, लेकिन पकने पर ये शरीर के लिए नुकसानदायक होते है। इनका तना और पत्तियां भी बहुत जहरीली होती है।

  
बुलफ्रॉग नामक जानवर अफ़्रीकी देशों में मिलता है, जहां इसे बड़े शौक से खाते है लकिन वह भी बारिश के मौसम में। इसको बारिश के अलावा किसी और मौसम में खाना हानिकारक है फलस्वरूप इससे किडनी तक फेल हो सकती है। कासू मारजू मूलतयः इटली में मिलता है, वहाँ के लोग इसे फ़ूड की बजाय इसे कचरा बोलना पसंद करते है। इसके खाने से कई प्रकार की जानलेवा बीमारियां तक हो सकती है।

  
फुगू या फिर पफर फिश जापान में खायी जाती है।  इस फिश के अंदरूनी हिस्सों में जहरीला तत्व पाया जाता है। जापानीज शेफ इसे बहुत ही सावधानी के साथ बनाते है।  इसी तरह एकी एक प्रकार का फल होता है जो जमैका में पाया जाता है, इस फल को कच्चा खाने से भरपूर मात्रा में प्रोटीन और विटामिन्स मिलते है वही अगर इस फल को पकने के बाद खाया जाये तो वह शरीर का ब्लड शुगर लेवल इतना कम कर देता है की इंसान की जान भी चली जाती है।

  
विस्तार से इसी से सम्बंधित और जानकारी के लिए नीचे दिए गए वीडियो को ध्यानपूर्वक देखे और शेयर करे।